Life Line का रहस्य- आकर के आधार पर

0
345
hsth rekha
- Advertisement -

1.Palmistry Life Line:

- Advertisement -

हथेली में सामान्यत: तीन रेखाएं मुख्य रूप से दिखाई देती हैं। ये तीन रेखाएं जीवन रेखा, मस्तिष्क रेखा और हृदय रेखा है। इन हाथों की लकीरों में ही इंसान के जीवन-मरण का सारा रहस्य छुपा होता है। इन रेखाओ का सही ज्ञान होने पर हम हमारे present,past,future के बारे में जान सकते हैं। ये रेखाएं कई संकेत दर्शाती है जो व्यक्ति के विचारो और कर्मो पर निर्भर करते है। इन्ही में से एक है जीवन रेखा। जीवन रेखा का सही ज्ञान होने पर हम हमारे जीवन से संबधित घटनाओ का पता लगा सकते हैं।

2.Jeevan Rekha:

जीवन रेखा अंगूठे के आधार से निकलती हुई, हथेली को पार करते हुए वृत्त के आकार मे कलाई के पास समाप्त होती है। यह सबसे विवादास्पद रेखा है। यह रेखा शारीरिक शक्ति और जोश के साथ शरीर के महत्वपूर्ण अंगों की भी व्याख्या करती है। शारीरिक सुदृढ़ता और महत्वपूर्ण अंगों के साथ समन्वय, रोग प्रतिरोधक क्षमता और स्वास्थ्य का विश्लेषण करती है।

3.Life Line Reading:

जीवसं रेखा लम्बी होनी चाहिए। पतली व साफ होनी चाहिए। और बिना किसी रुकावट के होनी चाहिए। यदि ये पतली है बहुत मोटाई में न हो और साफ हो तो ऐसी जीवन रेखा शुभ मानी जाती हैं। यदि किसी की जीवन रेखा पर छोटी-छोटी रेखा कट या क्रॉस कर रही हो तो ये रेखा शुभ नहीं मानी जाती। यदि जीवन रेखा पे कही पर स्टार का निशान बनता हो तो ऐसे व्यक्ति को उस उम्र में रीढ़ की हड्डी से संबधित कोई बीमारी हो सकती हैं। यदि जीवन रेखा पर कही पर सफेद बिंदु का निशान बन रहा हो तो ऐसे व्यक्ति को आँखों से संबधित बीमारी हो सकती है और अगर काला बिंदु बन रहा हो तो यह किसी दुर्घटना की तरफ इशारा करता हैं। यदि जीवन रेखा हल्का पीलापन लिए हुए हो और चौड़ी हो तो ऐसा व्यक्ति बुरा चरित्र वाला होता है। और उसका स्वास्थ्य ठीक नहीं रहता।

अगर जीवन रेखा गुरु पर्वत से शुरू हुई हो और जंजीरनुमा हो तो ये रेखा बताती है की व्यक्ति को बचपन में स्वास्थ्य से संबधित बीमारी होती हैं। अगर व्यक्ति की जीवन रेखा और मस्तिक रेखा के बीच में व्यापक जगह हो तो व्यक्ति आत्मविश्वास और ऊर्जा युक्त होता हैं। किसी भी काम को पूरे आत्मविश्वास के साथ पूरा करता हैं। जीवन रेखा केंद्र में आके टूट जाये और उसकी एक शाखा चंद्र पर्वत पर चली जाये तो ऐसा व्यक्ति मेहनती हाथो वाला और कठिन परिश्रमी वाला होता हैं। यदि व्यक्ति की जीवन रेखा पर दिव्प हो तो ये यह दर्शाता है कि व्यक्ति का का जीवन खराब स्यास्थ्य से पीड़ित होगा। यदि जीवन रेखा पर वर्ग की आकृति बनी हो तो ये आकृति व्यक्ति को रोग, दुर्घटना से बचाव करता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here