Fate Line – हथेली की भाग्य रेखा बना देती है महान, सफल

0
448
Fate Line
- Advertisement -

Fate Line:

- Advertisement -

दुनिया में हर सफल व्यक्ति के हाथो में ऐसी भाग्य रेखा पायी जाती हैं। हथेली में मध्यमा उंगली के नीचे शनि पर्वत होता है इसे ही भाग्यस्थान माना जाता है। हथेली में कहीं से भी चलकर जो रेखा इस स्थान तक पहुंचती है उसे भाग्य रेखा कहते हैं। हथेली की भाग्य रेखा की आकृति के आधार करता है कि व्यक्ति भाग्यशाली है या दुर्भाग्यशाली। समुंद्र शास्त्र में बताया गया है कि जो भी दुनिया में आता है वो अपना भाग्य साथ लेकर आता हैं।

1. अगर भाग्य रेखा शनि पर्वत पर पहुंच कर दो भागो में बटकर अगर भाग गुरु पर्वत पर पहुंच जाये तो ऐसा व्यक्ति दानी और परोपकारी होता हैं। ऐसा व्यक्ति उच्च पद पर आसीन होता हैं।

2. अगर शुक्र स्थान से कोई भाग्य रेखा निकल कर शनि पर्वत तक पहुँचती है तो शादी के बाद व्यक्ति का भाग्योदय होता हैं। ऐसा व्यक्ति किसी कला के माध्यम से प्रगति करता हैं। लेकिन ऐसे व्यक्ति के जीवन में कई बार संकट के बादल मंडराते हैं। क्योकि भाग्य रेखा जीवन रेखा को काट कर आगे भड़ती हैं।

3. हथेली के मध्यम में मस्तिष्क रेखा से निकल कर भाग्य रेखा शनि पर्वत तक जा पहुँचती है तो ऐसी रेखा अति उतम मानी जाती है, ऐसा व्यक्ति सामान्य परिवार में जन्म लेकर भी अपनी योग्यता से सफलता अर्जित कर लेता हैं।

4. जिनकी हथेली में कोई रेखा कलाई में से निकल कर शनि पर्वत तक जा पहुँचती है ऐसा व्यक्ति भाग्यशाली माना जाता हैं। ऐसा व्यक्ति महत्वकांशी और लक्ष्य पर केंद्रित रहने वाला होता हैं।

5. इस रेखा को कोई अन्य रेखा काटती नहीं हो। जिस स्थान पर भाग्य रेखा कटी होती है जीवन के उस पड़ाव में व्यक्ति को संघर्ष और कष्ट का सामना करना पड़ता है। भाग्य रेखा लंबी होकर मध्यामा के किसी पोर तक पहुंच जाए तो परीश्रम करने के बावजूद सफलता उससे कोसों दूर रहती है।

6. जब कोई रेखा चंद्र पर्वत से निकल कर भाग्य रेखा से जा मिले तो अपने वैवाहिक जीवन अधिक रूचि दिखाते हैं।

7. अगर आपके हाथ में दो भाग्य रेखा दिखे, तो ये आपके लिए शुभ है और आप एक से अधिक पदों में उन्नति पा सकते हैं। रेखाओ में अगर लहरे हो आपको उतार चड़ाव देखने को मिलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here