अक्षय तृतीया को किले से कूदकर दी एक साथ 7 सुन्दर लड़कियों ने अपनी जान

2
366
अक्षय तृतीया को किले से कूदकर दी एक साथ 7 सुन्दर लड़कियों ने अपनी जान
अक्षय तृतीया को किले से कूदकर दी एक साथ 7 सुन्दर लड़कियों ने अपनी जान
- Advertisement -
- Advertisement -

ऐसा कहा जाता है की UP (Uttar Pradesh) के झाँसी में एक ऐसा किला है जो की 150 साल पुराना है इस किले का नाम तालबेहट है और इसके बारे में कई डरावनी कहानिया मशहूर है। लोगो का कहना है की रात में इस किले के पास से गुजरने में कई तरह की आवाजे आती है जैसे की कोई चिल्ला रहा हो।

इस किले के बारे में लोगो का कहना है की यह किला राजा मर्दन सिंह का था और इस किले में उनके पिता रहा करते थे और उन्होंने यानि उनके पिता ने 7 लडकियों को अपने हवस का शिकार बनाया था, जिसकी वजह से उन लडकियों ने इस किले से कूदकर अपनी जान दे दी थी और उन्ही लडकियों की आवाजे यहाँ सुनाई देती है।

मर्दन सिंह के पिता की वैशावृति की कहानी प्राइमरी स्कूल से रिटायर्ड प्रिंसिपल की जुबानी:

रिटायर्ड प्रिंसिपल महाराज सिंह ने बताया की 1850 में मर्दन सिंह यूपी के झाँसी के ललितपुर के बानपुर के राजा बने, इसी के पास ही एक गाँव था जिसका नाम तालबेहट था, जहाँ अक्सर उनका आना जाना था, इसलिए उन्होंने वहाँ एक महल बनवा दिया और अपने पिता प्रह्लाद सिंह को उस किले की जिम्मेदारी सोपं दी।

इस पुरे महल में प्रह्लाद सिंह अकेले ही रहते थे और एक रात हुई एक एसी दुखद घटना की लोगो की रूह कांप गयी।

उस रात एक साथ सात लडकियों की मौत हो गयी। उस दिन अक्षय तृतीय थी और इस दिन नेग मांगने की रसम थी, इसलिए उस दिन ये सातों लड़कियां महल में नेग मांगने के लिए गयी, जब ये लड़कियां मर्दन सिंह के पिता प्रह्लाद सिंह के पास पहुंची तो प्रह्लाद सिंह के मन में काम वासना जाग उठी और उसने एक-एक करके सातों लडकियों को अपनी हवस का शिकार बनाया था। इसी वजह से इन लडकियों ने उसी किले की उच्ची चोटी से कूद कर अपनी जान दे दी थी।

जहाँ राजा मर्दन सिंह अपनी वीरता के लिए जाने जाते थे वही आज उनके पिता अपनी इस गन्दी हरकत और पुत्र की प्रतिष्ठा को कलंकित करने के लिए मशहूर हो गए थे।

राजा मर्दन सिंह ने किया था अपने पिता के कर्मो का पश्चाताप:

इस दुखद घटना के बाद लोगो में गुस्से की आग दहक रही थी, इसी के चलते रजा मर्दन सिंह ने अपने पिता को वापस बुला लिया था।

और इस घटना का पश्चाताप करने के लिए उन्होंने उन सात लडकियों को श्रधांजलि दी थी।

इसी के साथ उन्होंने अपने किले के मैन गेट पर उन लडकियों की पत्थर की मुर्तिया बनवाई थी, जिनकी आज भी लोग पूजा करते है।

यही किला आज डर का एक प्रमुख कारण बन गया है, लोगो का कहना है की इस डर की वजह उन सात लडकियों की आत्मा का यहाँ निवास होना ही है। इसी डर को दूर करने के लिए तालबेहट गाँव की औरते यहाँ हर साल इन सात लडकियों की मूर्तियों की पूजा भी करती है।

इस किले की कुछ तस्वीरे यहाँ निचे देखे:

अक्षय तृतीया को किले से कूदकर दी एक साथ 7 सुन्दर लड़कियों ने अपनी जान

2 COMMENTS

  1. Hello ,

    I saw your tweets and thought I will check your website. Have to say it looks very good!
    I’m also interested in this topic and have recently started my journey as young entrepreneur.

    I’m also looking for the ways on how to promote my website. I have tried AdSense and Facebok Ads, however it is getting very expensive. Was thinking about starting using analytics. Do you recommend it?
    Can you recommend something what works best for you?

    I also want to improve SEO of my website. Would appreciate, if you can have a quick look at my website and give me an advice what I should improve: janzac.com.
    (Recently I have added a new page about FutureNet and the way how users can make money on this social networking portal.)

    I have subscribed to your newsletter. 🙂

    Hope to hear from you soon.

    P.S.
    Maybe I will add link to your website on my website and you will add link to my website on your website? It will improve SEO of our websites, right? What do you think?

    Regards
    Jan Zac

  2. Hello ,

    I saw your tweet about animals and thought I will check your website. I like it!

    I love pets. I have two beautiful thai cats called Tammy(female) and Yommo(male). Yommo is 1 year older than Tommy. He acts like a bigger brother for her. 🙂
    I have even created an Instagram account for them and probably soon they will have more followers than me (kinda funny).

    I have subscribed to your newsletter. 🙂

    Keep up the good work on your blog.

    Regards
    Wiki

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here